खोजे गए परिणाम

सहेजे गए शब्द

"एक आँच की कसर" शब्द से संबंधित परिणाम

एक आँच की कसर

काम के मुकम्मल होने में सी कमी, तकमील में ज़रा सा नुक़्स (ख़ुसूसन अकसीर तैय्यार होने में)

आँच की कसर

ख़ुश्की की कसर

कोख की आँच नहीं सही जाती, पेट की आँच सही जाती है

भूका रहा जा सकता है किंतु मामता नहीं छोड़ी जा सकती

सब शक्ल है लंगूर की , इक दुम की कसर है

किसी की बदसूरती पर तंज़न कहते हैं

कोई किसी की आँच में नहीं गिरता

कोई शख़्स दूसरे की बला और मुसीबत अपने से नहीं लेता

कोख की आँच सही जाती है, पेड़ू की आँच नहीं सही जाती

संतान के मरने पर सब्र आ जाता है किंतु पति की मृत्यु सहन नहीं होती

पेड़ू की आँच सहना

ख़ाहिश नफ़सानी को ज़बत करना

दोज़ख़ की आँच

पोस्ती की आँच ऊपर ही ऊपर नहीं जाती

(मजाज़न) ग़रीब की आह बेअसर नहीं होती

पेड़ू की आँच फिर सात पाँच

अभिलाषा की जोश में कुछ होश बाक़ी नहीं रहता

पेड़ू की आँच

एक-एक की सौ-सौ सुनाना

तुर्की-ब-तुर्की जवाब देना, व्यंग और कटाक्ष आदि के उत्तर में बढ़-चढ़ कर कहना

पेड़ू की आँच

एक एक की सौ सौ लगाना

फांस का बांस बना कर पेश करना, भड़काने या बहकाने किये लिए मुबालग़े के साना बयान करना

एक एक की सौ सौ मशहूर करना

फांस का बांस बना कर पेश करना, भड़काने या बहकाने किये लिए मुबालग़े के साना बयान करना

एक की टोपी एक के सर

एक एक की दस दस मशहूर करना

फांस का बांस बना कर पेश करना, भड़काने या बहकाने किये लिए मुबालग़े के साना बयान करना

एक जोरू की जोरू एक जोरू का ख़सम, एक जोरू का सीस फूल एक जोरू की पश्म

कुछ पति पत्नियों पर हावी होते हैं और कुछ पत्नियाँ पतियों पर, पत्नीव्रता अर्थात स्त्रीजित व्यक्ति का सम्मान नहीं होता

मुर्ग़े की एक टाँग

इस मौक़ा पर मुस्तामल जब कोई अपनी ग़लत बात पर उड़ा रहे या हिट धर्मी करे

एक एक की चार चार मशहूर करना

फांस का बांस बना कर पेश करना, भड़काने या बहकाने किये लिए मुबालग़े के साना बयान करना

सौ बातों की एक बात

एक की दस सुनाना

पाबंदी एक की भली

एक ही की आज्ञाकारी अच्छी हो सकती है

मुर्ग़ी की एक टाँग

रुक : मुर्ग़ी की एक टांग, वहां बोलते हैं जहां कोई अपनी ग़लत बात पर उड़ा रहे

मुर्ग़ की एक टाँग

अपनी बात की हठ, अपने ग़लत या झूटे कथन की हठ (उस वक़्त कहते हैं जब कोई अपनी बेजा बात पर अड़ा हुआ हो)

एक आम की दो फाँकें हैं

दोनों एक ही शक्ल-ओ-सूरत या नसल के हैं

असील मुर्ग़े की एक टाँग

अपनी ज़िद पर क़ायम, हिट पर अड़ा हुआ

सौ सुनार की एक लोहार की

सौ सुनार की एक लुहार की

कमज़ोर की सौ ज़रबों पर ज़बरदस्त की एक ज़रब भारी रहती है, कार बरारी के लिए ज़ोर से ज़्यादा हुनर या तदब्बुर दरकार होता है

चंपा के दस फूल चंबेली की एक कली, मूरख की सारी रात चातुर की एक घड़ी

थोड़ी अच्छी चीज़ मामूली बहुत सी चीज़ से बेहतर होती है

सारस की सी जोड़ी एक अंधा एक कोड़ी

दोनों निकम्मे, निकम्मे का दिवस भी निकम्मा होता है

पंडित मश'अलची की उलटी रीत, एक दिखावे चांदनी एक अंधेरे-बीच

पंडित दूसरों को उनके भाग्य का हाल बताता हैं मगर अपनी मुसीबत का हाल नहीं जानता, मशलची दूसरों को उजाला देखाता है और स्वयं अंधेरे में रहता है

तोड़-कसर

एक ईंट की ख़ातिर मस्जिद ढाना

सौ की एक

सब से बेहतर, चुनिंदा बात, सौ बात की एक बात

लाख बातों की एक बात

हज़ार बातों की एक बात

۔मुख़्तसर और उम्दा बात।(इबनुलवक़्त) हज़ार बातों की एक बात तो ये है कि सरकार ने बुज़ूर शमशीर अपनी हुकूमत क़ाहिरा को बिठाना चाहा

मंदी-आँच

संगत भली न साध की और एक गेंदे की बास

ना फ़क़ीर की रिफ़ाक़त अच्छी होती है और ना गेंदे की बूओ, इन दोनों की सोहबत पाएदार नहीं होती

मुर्ग़े की एक ही टाँग

मुर्ग़ की एक ही टाँग

۔मिसल वहां बोलते हैं जब कोई अपनी बेजा बात पर अड़ारहे और क़ाइल ना हो।(क़िस्सा)कहते हैं किसी ख़ानसामां ने एक टांग का मुर्ग़ पकाकर साहिब के आगे रखा वो दययख कर कहने लगे दिल ख़ानसामां इस मुर्ग़ की दूसरी टांग कहाँ है इस ने कहा साहिब ये मुर्ग़ इस नसल का है जिस के एक हो इक्र

काम करने की सौ राहें हैं , न करने की एक नहीं

काम सिदक़ नी्यत से किया जाये तो कई तरीक़े निकल आते हैं अगरना करने की नी्यत हो तो कोई तरीक़ा नहीं निकलता

असील मुर्ग़े की वही एक टाँग

मुतरादिफ़-कसर

मुर्ग़े की एक वही टाँग

सौ की एक बात

चयनित बात

आँच खींचना

कोयले या जलते ईंधन को चूल्हे या भट्टी आदि से हटाकर गर्मी और तपिश कम करना

करोड़ की एक

वो बात जो करोड़ बातों ख़ुलासा, निचोड़ हो, निहायत तजरबे की बात, निहायत पक्की बात

आँच पहुँचना

अग्नि ताप या गर्मी शरीर को लगना, जलना

अभी एक बूंट की दो दाल नहीं हुए हैं

अभी काम का आरंभ है, अभी थोड़ा काम हुआ है, अभी काम पूरा नहीं हुआ है, अभी मामला तय नहीं हुआ

आदमी की दो आँखें एक शर्माए दूसरी फ़रमाए

पक्ष और सहमति व्यक्त करने के विभिन्न तरीक़े होते हैं

मुर्ग़ की एक टाँग कहे जाना

अपनी बे-जा बात पर अड़ा रहना

एक की दस जुड़ना

साँच को आँच नहीं

कसर-मसर

कोर-कसर

कमी बेशी, बुराई, दोष, ख़राबी, (निकालना, निकलना के साथ), (तुम्हारे मार डालने में इस ने कोई कोर कसर बाक़ी नहीं रखी)

क्या सौ रूपे की पूँजी , क्या एक बेटे की औलाद

सौ रुपय की पूंजी थोड़ी होती है और एक बेटा ना काफ़ी होता है, सौ रुपय बहुत थोड़ी हो निजी है और एक बेटा काफ़ी औलाद नहीं, किसी वक़्त मर जाये

साँच को आँच

सत्य हानिरहित है, सच्च बोलने वाला नुक़्सान नहीं उठाता

तेज़-आँच

हिन्दी, इंग्लिश और उर्दू में एक आँच की कसर के अर्थदेखिए

एक आँच की कसर

ek aa.nch kii kasarایک آنْچ کی کَسَر

वाक्य

एक आँच की कसर के हिंदी अर्थ

  • काम के मुकम्मल होने में सी कमी, तकमील में ज़रा सा नुक़्स (ख़ुसूसन अकसीर तैय्यार होने में)
rd-app-promo-desktop rd-app-promo-mobile

English meaning of ek aa.nch kii kasar

  • slightly unripe, little imperfect

ایک آنْچ کی کَسَر کے اردو معانی

  • کام کے مکمل ہونے میں تھوڑی سی کمی، تکمیل میں ذرا سا نقص (خصوصاً اکسیر تیار ہونے میں)

संदर्भग्रंथ सूची: रेख़्ता डिक्शनरी में उपयोग किये गये स्रोतों की सूची देखें .

सुझाव दीजिए (एक आँच की कसर)

नाम

ई-मेल

प्रतिक्रिया

एक आँच की कसर

चित्र अपलोड कीजिएअधिक जानिए

नाम

ई-मेल

प्रदर्शित नाम

चित्र संलग्न कीजिए

चित्र चुनिए
(format .png, .jpg, .jpeg & max size 4MB and upto 4 images)
बोलिए

Delete 44 saved words?

क्या आप वास्तव में इन प्रविष्टियों को हटा रहे हैं? इन्हें पुन: पूर्ववत् करना संभव नहीं होगा

Want to show word meaning

Do you really want to Show these meaning? This process cannot be undone

Recent Words