खोजे गए परिणाम

सहेजे गए शब्द

"हकीम को क़ारूरे से क्या लाज" शब्द से संबंधित परिणाम

हकीम को क़ारूरे से क्या लाज

अपने बेटे से श्रम नहीं करनी चाहिए

संग सोई तो लाज क्या

हमराह सोने के बाद कौनसी श्रम रह जाती है, इस वक़्त कहते हैं जब कोई बेजा तौर पर शरमाए

लाज की आँख जहाज़ से भारी

लाज की आँख जहाज़ से भारी

पहाड़ या जहाज़ अपनी जगह से चल सकता है मगर ग़ैरत मंद की आँख अपनी जगह से नहीं उठ सकती

इस को क्या कीजिए

अजीब बात है (इज़हार हैरत के मौक़ा पर मुस्तामल)

हकीम-ए-मुतलक़

पूरे ज्ञान वाला, (अर्थात) अल्लाह ताला

क़ुरआन-ए-हकीम

ज़िक्र-ए-हकीम

गंज-ए-हकीम

हकीम-ए-हाज़िक़

लाज गँवाना

रुक: लाज खोना

इस को क्या कहिए

अजीब बात है (इज़हार हैरत के मौक़ा पर मुस्तामल)

हकीम-ए-फ़रज़ाना

जूती को क्या ग़रज़

क्या संबंध, लगाव है, क्या आवश्यकता, क्या ज़रूरत है (नाराज़गी या घृणायुक्त भाव प्रकट करने के लिए)

नंगे को क्या नंग , काले को क्या रंग

बेग़ैरत को क्या श्रम आए जैसे कि काले मुँह वाले को अपने रंग के मानद पड़ने का क्या डर

जूती को क्या ग़रज़

बला को क्या ग़रज़

मुतरादिफ़ : (मेरी या तुम्हारी) पापोश को क्या ग़रज़ है, क्या पर्वा है, वग़ैरा

हकीम-ए-उम्मत

हकीम-ए-मशरब

हकीम-ख़ानी-कटार

ये टाँग खोलो तो लाज , वो टाँग खोलो तो लाज

ऊँघते को सो जाते क्या देर

जिस बात के अस्बाब मौजूद हैं इस को वजूद में आते क्या देर लगती है

हाथ कंगन को आरसी क्या

(शाब्दिक) हाथ के कंगन को देखने के लिए आईने की ज़रूरत नहीं होती, अर्थात: जो बात ज़ाहिर हो उसके खोजने करने की क्या ज़रूरत है, जो चीज़ आँखों के सामने हो उसको क्या बयान करना

एक लाठी से सब को हाँकना

इन आँखों से क्या क्या नहीं देखा

सब कुछ देख लिया है , बड़ी बड़ी मुसीबतें झेली हैं

पाँव की च्यूँटी क्या ऊँचे से गिरेगी

भूखे को क्या रूखा और नींद को क्या तकिया

ज़रूरत के वक़्त जो मयस्सर आजाए ग़नीमत है

हम को यार की यारी से काम , यार की बातों से क्या काम

अपने काम से काम रखना, अपना फ़ायदा हासिल करना, दूसरे की नुक़्सान की पर्वा ना करना, अपना उल्लू सीधा करना

लाज की आँख पहाड़ से भारी

पहाड़ या जहाज़ अपनी जगह से चल सकता है मगर ग़ैरत मंद की आँख अपनी जगह से नहीं उठ सकती

उस को क्या कहते हैं

अजीब बात है (इज़हार हैरत के मौक़ा पर मुस्तामल)

इस को क्या कहते हैं

अजीब बात है (इज़हार हैरत के मौक़ा पर मुस्तामल)

सब को एक ही लाठी से हाँकना

जूती से क्या ग़रज़

आग को दामन से ढाँकना

बात को इस तरह छुपाना को और इफ़शा होजाए

माँ डाएन हो तो क्या बच्चों ही को खाएगी

बुरा इंसान भी अपनों का लिहाज़ करता है, अपनों को कोई नक्साक् नहीं पहुंचाता चाहे ग़ैरों से कैसा सुलूक करे

लाज पकड़ना

मूँछों की लाज रखना

आबरू रखना, इज़्ज़त का ख़्याल करना

नीम-हकीम ख़तरा-ए-जान

गंगा नहाए क्या फल पाए , मूँछ मुँडाए घर को आए

तंज़ है कि गंगा में नहाने से किया होता है सिर्फ़ मूंछें मंड जाती हैं

अंधे को अंधा रास्ता क्या बताए

जो खुद ही भटका हुआ है वह दूसरों का नेतृत्व क्या करेगा

बाँह गहे की लाज

छूटे गाँव से नाता क्या

जिस से ताल्लुक़ ना रहा फिर उस की अच्छाई बुराई से किया ग़रज़

भूक को भोजन क्या और नींद को बिछोना क्या

ज़रूरत पर जो मिले वही ग़नीमत है

हकीम-ए-तबी'इय्यात

घर आए की लाज

घर आए की लाज

मुँह को दामन से ढाँकना

यार की यारी से काम , यार की बातों से क्या काम

रुक : यार की यारी से काम इस के फे़अलों से किया काम

पाँव की च्यूँटी क्या ऊँचे से गिरेगी

साहिब मंसब तो बेतौक़ीर हो सकता है जो ख़ुद ज़लील हो वो क्या ज़लील होगा

नौकर को क्या 'उज़्र है

नौकर को सिवाए इताअत के कोई उज़्र नहीं , नौकर कोई उज़्र नहीं कर सकता उसे इताअत करनी पड़ती है

किसी को क्या पड़ी है

किसी को क्या ग़रज़ या पर्वा है

हाथ कंगन को आरसी क्या ज़रूर

ख़ैर से घर को सिधारो

इतना फ़ना लग चलो, ज़्यादा मुसाहिब ना बनू (ज़बान दराज़ और बेअदब आदमी की निसबत या बेतकल्लुफ़ दोस्त के हक़ में अज़ राह ख़ुश इख़तलाती ज़बान पर लाते हैं

ख़ुदा को क्या मुँह दिखाओगे

अल्लाह पाक को क्या जवाब दोगे

हकीम 'अलल-इतलाक़

सूई के नाके से ऊँट को निकालना

भूका को रूखा सूखा क्या और नींद को क्या बिछौना

रुक : भूक को क्या रूखा और नींद को क्या तकिया

हुमायूँ को हाथ से न देना

हौसला ना हारना

अभी क्या है ख़ुदा आप को बहुत से दिन सलामत रखे

बड़े बदज़ात हो

क्या क्या गुज़रा

क्या क्या मुसीबत पेश आई, क्या क्या वाक़िया पेश आया

हिन्दी, इंग्लिश और उर्दू में हकीम को क़ारूरे से क्या लाज के अर्थदेखिए

हकीम को क़ारूरे से क्या लाज

hakiim ko qaaruure se kyaa laajحکِیم کو قارُورے سے کیا لاج

कहावत

हकीम को क़ारूरे से क्या लाज के हिंदी अर्थ

 

  • अपने बेटे से श्रम नहीं करनी चाहिए
rd-app-promo-desktop rd-app-promo-mobile

حکِیم کو قارُورے سے کیا لاج کے اردو معانی

 

  • اپنے بیٹے سے شرم نہیں کرنی چاہیے

सूचनार्थ: औपचारिक आरंभ से पूर्व यह रेख़्ता डिक्शनरी का बीटा वर्ज़न है। इस पर अंतिम रूप से काम जारी है। इसमें किसी भी विसंगति के संदर्भ में हमें dictionary@rekhta.org पर सूचित करें। या सुझाव दीजिए

संदर्भग्रंथ सूची: रेख़्ता डिक्शनरी में उपयोग किये गये स्रोतों की सूची देखें .

सुझाव दीजिए (हकीम को क़ारूरे से क्या लाज)

नाम

ई-मेल

प्रतिक्रिया

हकीम को क़ारूरे से क्या लाज

चित्र अपलोड कीजिएअधिक जानिए

नाम

ई-मेल

प्रदर्शित नाम

चित्र संलग्न कीजिए

चित्र चुनिए
(format .png, .jpg, .jpeg & max size 4MB and upto 4 images)
बोलिए

Delete 44 saved words?

क्या आप वास्तव में इन प्रविष्टियों को हटा रहे हैं? इन्हें पुन: पूर्ववत् करना संभव नहीं होगा

Want to show word meaning

Do you really want to Show these meaning? This process cannot be undone

Recent Words