खोजे गए परिणाम

सहेजे गए शब्द

"मरते वक़्त कलिमा-ए-मोहम्मद न नसीब हो" शब्द से संबंधित परिणाम

मरते वक़्त कलिमा-ए-मोहम्मद न नसीब हो

(कोसना) एक प्रकार की क़सम और बद-दुआ, इस बात पर ज़ोर देना कि जो कुछ मैं कह रहा हूँ वो बिलकुल ठीक है

कलिमा-ए-मोहम्मद

अभिप्राय: कलमा-ए-तय्याबा

मरते वक़्त ईमान नसीब न हो

(ओ) इस बात पर यक़ीन दिलाना कि जो कुछ में कह रहा हूँ वो बिलकुल ठीक है (बतौर बददुआ मुस्तामल)

कफ़न नसीब न हो

(कोसना) बे गुरू-ओ-कफ़न रहे

रसना-बसना नसीब हो

(प्रार्थना शब्द) रहना सहना और फूलना फलना नसीब हो, ख़ुदा ख़ुश और सरसब्ज़ रखे, ख़ुदा भरा पुरा रखे

मोहम्मद-ए-'अरबी

अरब के पैग़ंबर मोहम्मद

सिब्तैन-ए-मोहम्मद

कलिमा-ए-ख़ैर

प्रशंसा, सिफ़ारिश

कलिमा-ए-हक़

ईश्वर का आदेश

अंगुश्त-ए-कलिमा

कलिमे की उंगली जो सीधे हाथ के अंगूठे के पास होती है, अंगूठे के पास की अंगुली, तर्जनी

मरते मर गए, चोंचलों से न गए

बेइज़्ज़त होकर भी ग़रूर ना गया

कलिमा-ए-कुफ़्र

वो बात जिससे इस्लाम धर्म की निंदा हो

मू-ए-मोहम्मद

कलिमा-ए-हैरत

आश्चर्य के अवसर पर मुँह से निकलने वाला शब्द, उदाहरण के लिए: ओह, आहा आदि

कलिमा-ए-तख़ातुब

किसी को संबोधित करने का शब्द, संबोधन शब्द उदाहरण के लिए: आप, तुम आदि

कलिमा-ए-ख़बीसा

अपवित्र शब्द, बुरी बात

मरते-मरते

मौत के समय, मरते दम तक, मरते वक़्त, आख़िर समय में

कलिमा-ए-शुक्र

धन्यवाद प्रकट करने के शब्द, कृतज्ञता, अभिप्राय: ईश्वर की कृपा है, अल्लाह का शुक्र है

आ'ला-ए-कलिमा-ए-हक़

कलिमा-ए-शरीफ़

पहला कलिमा तय्यबा: ला-इलाहा इल्लल्लाह मुहम्मदुर रसूलुल्लाह

कलिमा-ए-इज़ाफ़त

(व्याकरण) वो शब्द जो एक संज्ञा का दूसरे संज्ञा के साथ संबंध प्रकट करे

मरते मरते सँभलना

हालत बेहतर होना , मरते मरते बचना

ए'लान-ए-कलिमा-ए-तौहीद

कलिमा-ए-फ़िजाइय्या

आश्चर्य या हर्ष आदि के अवसर पर अचानक मुँह से निकलने वाले शब्द, उदाहरण के लिए: आहा, ओहो, अरे वाह

मिदहत-ए-आल-ए-मोहम्मद

सल्ल-ए-'अला-मोहम्मद

मुहमद्द पर दरूद भेज

कलिमा-ए-तकबीर

अभिप्राय 'अल्लाहु अकबर'

कलिमा-ए-तहसीन

प्रशंसा के शब्द, उदाहरण के लिए: शाबाश

कलिमा-ए-ईजाब

(व्याकरण) वो शब्द जो स्वीकारोक्ति में या किसी के संबोधन और प्रश्न के उत्तर में बोला जाए

ये न हो

कोई भी नहीं, एक भी नहीं मिल सकता, इधर ना उधर, दोनों नहीं, दोनों में से कोई भी नहीं

कलिमा-ए-तय्यिबा

कलिमा-ए-तय्यिब

कलिमा-ए-तौहीद

ला-इलाहा इल्लल्लाह मोहम्मदुर-रसूलुल्लाह इसमें एकेश्वरवाद (और पैग़म्बर मोहम्मद साहब) पर ईमान लाने की प्रतिज्ञा है, इसलिए उसे कलिमा-ए-तौहीद कहते हैं

मोहम्मद का लख़्त-ए-जिगर

जिगर का टुकड़ा; अर्थात, पैग़ंबर मुहम्मद की संतान या वंश

नसीब-ए-दोस्ताँ

(दुआइया, प्रार्थी शब्द) दोस्तों को नसीब हो, दोस्तों का नसीब अच्छा हो (तारीफ़ के मौक़े पर प्रयुक्त)

सफ़र-ए-नसीब

भाग्य की यात्रा

गोर-ओ-कफ़न नसीब न होना

बुरे हालों मरना, बहुत मजबूरी में जान देना

कहाँ हो कहाँ न हो

कलिमा-ए-शहादत

गवाही के शब्द, अर्थात: अशहदुअन्ना ला-इलाहा इल्लल-लाहु व अशहदुअन्ना मोहम्मदन अब्दुहू व रसूलुहू (मैं गवाही देता हूँ कि ईश्वर के सिवा कोई पूजनीय नहीं और मैं गवाही देता हूँ कि पैग़म्बर मोहम्मद साहब ईष्वर के बंदे और उसके दूत हैं) इसमें चूँकि गवाही दी जाती है इसलिए इसे कलिमा-ए-शहादत कहते हैं

कलिमा-ए-मुनव्वना

कलिमा-ए-मोहम्मदिया

नसीब-ए-दुश्मनाँ

शत्रुओं या दुर्जनों के लिए शुभ हो, जब किसी मित्र या सम्मानित व्यक्ति के यहाँ जाने पर उस व्यक्ति के नाम के स्थान पर यह वाक्य कहते हैं

नसीब-ए-आ'दा

मरते हैं मरते पर न राह चलते पर

प्यार और मोहब्बत अपनों से होता है न कि दूसरों या अजनबियों से

मंज़िल-ए-नसीब

ज़ुल्मत-ए-नसीब

अभागा, बद-क़िस्मत, जिसकी क़िस्मत अच्छी न हो, जिसके भाग्य में अंधेरा हो

मरते-मरते बचना

मौत के ख़तरे या मौत जैसी बड़ी मुसीबत से नजात पाना, हालत बेहतर हो जाना, सँभल जाना

क्यूँ न हो

शाबाश, क्या कहना, अवश्य, ज़रूर, वाह वाह, क्यों नहीं, ऐसा ज़रूर हो

वा-ए-नसीब

(क़िस्मत का गला करने के लिए मुस्तामल) वाय क़िस्मत, हाय बदनसीबी, हाय तक़दीर

साहिब-ए-नसीब

भाग्यशाली, खुशक़िस्मत ।।

कलिमा-ब-कलिमा

अक्षरशः, ज्यों का त्यों

मरते-मरते मर जाना

मरते मर जाना

दीन दीन-ए-मोहम्मद

ख़तना के वक़्त नाई के शब्द, जिसका मतलब है कि इस्लाम की एक सुन्नत पूरी हुई

ये वो न हो

۔ये वो बात नहीं। ये वैसा मुआमला नहीं।

नसीब-ए-दुश्मनान

कलिमा-ए-ख़ैर अदा करना

प्रशंसा करना, भलाई से याद करना

क़ाइम आल-ए-मोहम्मद

मरते-वक़्त

वहाँ मारिए जहाँ पानी न हो

रुक : वहां गर्दन मारीए अलख

मोहम्मद-ख़ानी

हिन्दी, इंग्लिश और उर्दू में मरते वक़्त कलिमा-ए-मोहम्मद न नसीब हो के अर्थदेखिए

मरते वक़्त कलिमा-ए-मोहम्मद न नसीब हो

marte vaqt kalima-e-mohammad na nasiib hoمَرتےوَقت کَلِمَۂ مُحَمَّد نَہ نَصِیْب ہو

वाक्य

मरते वक़्त कलिमा-ए-मोहम्मद न नसीब हो के हिंदी अर्थ

 

  • (कोसना) एक प्रकार की क़सम और बद-दुआ, इस बात पर ज़ोर देना कि जो कुछ मैं कह रहा हूँ वो बिलकुल ठीक है
rd-app-promo-desktop rd-app-promo-mobile

English meaning of marte vaqt kalima-e-mohammad na nasiib ho

 

  • a kind of vow or evil word

مَرتےوَقت کَلِمَۂ مُحَمَّد نَہ نَصِیْب ہو کے اردو معانی

 

  • (کوسنا) ایک قسم کی قسم اور بددعا، اس بات پر زور دینا کہ جو کچھ میں کہہ رہا ہوں وہ بالکل ٹھیک ہے

सूचनार्थ: औपचारिक आरंभ से पूर्व यह रेख़्ता डिक्शनरी का बीटा वर्ज़न है। इस पर अंतिम रूप से काम जारी है। इसमें किसी भी विसंगति के संदर्भ में हमें dictionary@rekhta.org पर सूचित करें। या सुझाव दीजिए

संदर्भग्रंथ सूची: रेख़्ता डिक्शनरी में उपयोग किये गये स्रोतों की सूची देखें .

सुझाव दीजिए (मरते वक़्त कलिमा-ए-मोहम्मद न नसीब हो)

नाम

ई-मेल

प्रतिक्रिया

मरते वक़्त कलिमा-ए-मोहम्मद न नसीब हो

चित्र अपलोड कीजिएअधिक जानिए

नाम

ई-मेल

प्रदर्शित नाम

चित्र संलग्न कीजिए

चित्र चुनिए
(format .png, .jpg, .jpeg & max size 4MB and upto 4 images)
बोलिए

Delete 44 saved words?

क्या आप वास्तव में इन प्रविष्टियों को हटा रहे हैं? इन्हें पुन: पूर्ववत् करना संभव नहीं होगा

Want to show word meaning

Do you really want to Show these meaning? This process cannot be undone

Recent Words