अधिक खोजे गए शब्द

सहेजे गए शब्द

अधिक खोजे गए शब्द

यौम-उल-बा'स

प्रलय का दिन, क़यामत का दिन, मुर्दों को ज़िंदा करने का दिन

जहेज़

दहेज, शादी का सामान, ब्याह में दुल्हन को दिया जाने-वाला सामान, दहेज

ख़ुदा गंजे को नाख़ुन न दे

भगवान एक कम उत्साही और नीच आदमी को कोई अधिकार या सत्ता न दे

क़ाज़ी जी के घर के चूहे भी सयाने

हाकिम या धनी व्यक्ति के घर का सबसे छोटा आदमी भी चालाक और चतुर होता है

दाग़-ए-दिल

(लाक्षणिक) दुख और शोक, सदमा

मरते दम तक

आख़िर वक़्त तक, मृत्यु तक

ज़ियाँ

हानि, अनिष्ट,ज़रर, टोटा, क्षति, घाटा, नुक़्सान

ख़फ़ीफ़

हल्का, ओछा, कम भार वाला (वज़न में)

हिम्मत

शक्ति, ताक़त, सामर्थ्य, पहुँच, पैठ

मुश्ताक़

शौक़ रखने वाला, अभिलाषी, उत्सुक, इच्छुक, उत्कंठित, आर्जुमंद, ख़्वाहिशमंद, आकांक्षी,

शांति

दिल का आराम, सुकून, अमन, आराम, चैन, सुख, तसल्ली, साहस

वुज़ू-ख़ाना

वह स्थान जहाँ नमाज़ से पहले मुँह, हाथ और पैर को धुलते हैं, वह जगह जो वुज़ू के लिए निर्धारित हो (चाहे मस्जिद के अंदर हो या बाहर)

सजावट

किसी चीज़ के आस-पास या इधर-उधर पड़ने वाले ख़ाली स्थानों में ऐसी चीज़ें भरना या लगाना जिनमें उसकी शोभा या सौंदर्य बहुत बढ़ जाए, श्रृंगार

साँप का काटा रस्सी से डरता है

जिसे कोई दुःख या पीड़ा पहुँचती है वह बहुत सावधान होजाता है, पीड़ित छोटी चीज़ से भी डरने लगता है

क़दम उठाना

चलने के भाँव से पाव बढ़ाना, जल्दी चलना, जल्दी-जल्दी पग भरना

अज़ान

सामूहिक रूप से नमाज़ अदा करने के लिए मस्जिद से होने वाली पुकार या बुलावा, नमाज़ की सूचना के शब्द जो ज़ोर से पुकारे जाते हैं

इस्म-ए-गिरामी

अर्थात आप का क्या नाम है, (वाक्पटु समास, विशेषतः दिल्ली और लखनऊ दोनों स्थानों पर प्रचलित)

जुमला

वाक्य, शब्दसमूह, फ़िक्रः, बोल

तमोली

एक जाति जो पान बेचने का काम करती है

अक्षर

हर्फ़, वर्ण, मनुष्य के मुख से निकली हुई ध्वनि को सूचित करने का संकेत या चिह्न

Home / Blog / Birth of the Urdu language!!

Birth of the Urdu language!!

by Sabah Kausar 21 December 2021 3 min Read

Birth of the Urdu language!!


 

zabaa.n jis ko har ik bole usii kaa naam hai urdu

 zabaan-e-sher me.n fitrat kaa ik in.aam hai urdu

MAJID-UL-BAQRI

 

Urdu is a delight to the ears and so is its enriching history and culture. But ever wondered when did the Urdu language begin breathing? Pondering now? Let’s go back to history lane and gain some knowledge.

 

Urdu was born in the 12th century from the regional Apabhramsha of northwestern India. This newly-born speech was a breed of amalgamation of the Hindu and Muslim cultures (during the 12th to 16th centuries); a composite product of Ganga-Jamuni tehzeeb

 

This newly born baby was then named Hindustani which opened its limbs and unrolled itself overall in the Indian subcontinent.

 

Amir KHosrow, a renowned poet of the 13th century, played a crucial role in its infancy. He experimented with the language by drafting songs, dohas and couplets. 

 

Gingerly, Urdu saw the shining sun of youth and was callout by different names: Hindvi, Hindustani, Zaban-e-Hind, Hindi, Zaban-e-Delhi, Rekhta, Gujari, Dakkhani, Zaban-e-Urdu-e-Mualla, Zaban-e-Urdu, Urdu ‘the language of the camp’, Hindustani (in the late 17th century) and referred as Zaban-e-Urdu (in the early 18th century).

 

Albeit the word Urdu has Turkish origin, ‘ordu meaning ‘army’, the language carries no genes of Turkish. 75% of Urdu words have their etymological roots in Sanskrit and Prakrit and 25% to 30% of vocabulary comes from Persian and Arabic through Persian. 

 

Urdu, with baby steps and loanwords, grew up in a full-fledged man, fitting into the language of masses which was commonly spoken and easily fathomable and did wonders in the poetry genre.

 

So now, not only Urdu words you are aware of its birth; a voyage from the patter of tiny feet to sure-footed.

बोलिए

Delete 44 saved words?

क्या आप वास्तव में इन प्रविष्टियों को हटा रहे हैं? इन्हें पुन: पूर्ववत् करना संभव नहीं होगा

Want to show word meaning

Do you really want to Show these meaning? This process cannot be undone

Recent Words