खोजे गए परिणाम

सहेजे गए शब्द

"किसी की किसी को ख़बर नहीं" शब्द से संबंधित परिणाम

किसी की किसी को ख़बर नहीं

किसी गिरोह या जमात पर बेहोशी और ग़फ़लत का आलम तारी होने पर बोलते हैं

किसी को किसी की ख़बर नहीं

۔बेहोशी और ग़फ़लत का आलम किसी जमात में होने की जगह।

किसी की ख़बर को आना

इयादत को आना, बीमार पुरसी को आना

किसी की ख़बर को जाना

इयादत को आना, बीमार पुरसी को आना

किसी की नहीं सुनता

किसी की बात नहीं मानता, बेपर्वा है, किसी के समझाने पर अमल नहीं करता

पेट किसी की नहीं सुनता

सदा किसी की नहीं रही

हमेशा किसी का ज़माना मुवाफ़िक़ नहीं रहा

कज़ा से किसी को चारा नहीं

मौत से बचना असंभव है, मौत पर किसी का वश नहीं

किसी बात की कमी नहीं

हर चीज़ मौजूद है, अमीर हैं

किसी मर्ज़ की दवा नहीं

महिज़ बेकार है, किसी काम का नहीं

'इनायत-ए-शाही किसी की मीरास नहीं

ख़ुदा किसी को लाठी से नहीं मारता

अल्लाह त'आला को अगर किसी को सज़ा देनी हो तो मुसीबत भेज देता है

जोरू ज़ोर की नहीं किसी और की

जोरू उसी शख़्स के अपने वश में रहती है जिसकी कमर में बल होता है

ज़ंगी की सियाही किसी रंग नहीं जाती

पैदाइशी ऐब मिटाए नहीं मिटता

वो बात किसी को भी नसीब नहीं

ये क़दर-ओ-मंजिलत किसी को भी नसीब नहीं , ये ख़ूबी किसी में भी नहीं

दुनिया में किसी की यक्साँ नहीं गुज़री

ज़माना एक हालत पर नहीं रहता, हालात बदलते रहते हैं

कोई किसी की आँच में नहीं गिरता

कोई शख़्स दूसरे की बला और मुसीबत अपने से नहीं लेता

कोई किसी की क़ब्र में नहीं सोता

कोई किसी के बदले नहीं पकड़ा जाता, कोई किसी की बला अपने ज़िम्मा नहीं लेता

कोई किसी की आग में नहीं गिरता

कोई किसी की आग में नहीं गिरता

कोई शख़्स दूसरे की बला और मुसीबत अपने सर नहीं लेता

कोई किसी की क़ब्र में नहीं जाता

सदैव कोई किसी के साथ नहीं रहता, कोई किसी के बदले नहीं मरेगा, हर एक अपना ही उत्तरदायी है

कोई किसी की क़ब्र में नहीं जाएगा

कोई किसी के बदले नहीं पकड़ा जाता, कोई किसी की बला अपने ज़िम्मा नहीं लेता

कोई किसी की क़ब्र पर नहीं मूतता

कोई किसी को याद नहीं करता

किसी की आई मुझ को आ जाए

(कोसना) दूसरे की मौत मुझ को आ जाये, गुस्से या तकलीफ़ की हालत में अपने आप को बददुआ देना

किसी की आई मुझ को आ जाए

मुक़द्दर के आगे किसी की नहीं चलती

तक़दीर के बरख़िलाफ़ कुछ नहीं हो सकता

मरते सब को देखा , जनाज़ा किसी का नहीं देखा

आशिक़ी जताने और सिर्फ़ दावा करने वाले की निसबत कहते हैं

मुक़द्दर के रू-ब-रू किसी की नहीं चलती

तक़दीर के बरख़िलाफ़ कुछ नहीं हो सकता

किसी की ख़बर लेना

किसी के साथ हुस्न-ए-सुलूक करना, किसी शख़्स की ख़बरगीरी करना, ख़बर गीर होना , किसी को सज़ा देना, तादीब करना, मारना पीटना , किसी की मिज़ाजपुर्सी करना, इयादत को जाना, किसी के दुख-दर्द को पूछना , मिज़ाज की ख़ैरीयत दरयाफ़त करना, ख़ैरसल्ला लेने जाना

ऊँट जब तक पहाड़ के नीचे न आए किसी को अपने से ऊँचा नहीं समझता

ख़ुदा जब किसी को नवाज़ता है तो इस से सलाह मशवरा नहीं करता

अल्लाह जिस तरह चाहे और जब चाहे अपने बंदों पर लुतफ़-ओ-करम की बारिश कर देता है

ख़सम जोरू की लड़ाई किसी को न भाई

मियां बीवी कोमल जुल कर रहना चाहिए, मियां बीवी की लड़ाई सब को नापसंद है

रेत की दीवार , ओछा यार , किसी काम का नहीं

दोनों को उस्तिवार और क़ियाम नहीं

लाल ख़ान की चादर बड़ी होगी तो अपना बदन ढाँकेगी किसी को क्या

अमीर होगा तो ख़ुद उस को फ़ायदा होगा, जब कोई किसी अमीर की दौलत-ओ-स्रोत का ज़िक्र करे तो कहते हैं

हिन्दी, इंग्लिश और उर्दू में किसी की किसी को ख़बर नहीं के अर्थदेखिए

किसी की किसी को ख़बर नहीं

kisii kii kisii ko KHabar nahii.nکِسی کی کِسی کو خَبَر نَہِیں

वाक्य

किसी की किसी को ख़बर नहीं के हिंदी अर्थ

  • किसी गिरोह या जमात पर बेहोशी और ग़फ़लत का आलम तारी होने पर बोलते हैं
rd-app-promo-desktop rd-app-promo-mobile

کِسی کی کِسی کو خَبَر نَہِیں کے اردو معانی

  • کسی گروہ یا جماعت پر بے ہوشی اور غفلت کا عالم طاری ہونے پر بولتے ہیں.

संदर्भग्रंथ सूची: रेख़्ता डिक्शनरी में उपयोग किये गये स्रोतों की सूची देखें .

सुझाव दीजिए (किसी की किसी को ख़बर नहीं)

नाम

ई-मेल

प्रतिक्रिया

किसी की किसी को ख़बर नहीं

चित्र अपलोड कीजिएअधिक जानिए

नाम

ई-मेल

प्रदर्शित नाम

चित्र संलग्न कीजिए

चित्र चुनिए
(format .png, .jpg, .jpeg & max size 4MB and upto 4 images)
बोलिए

Delete 44 saved words?

क्या आप वास्तव में इन प्रविष्टियों को हटा रहे हैं? इन्हें पुन: पूर्ववत् करना संभव नहीं होगा

Want to show word meaning

Do you really want to Show these meaning? This process cannot be undone

Recent Words