खोजे गए परिणाम

सहेजे गए शब्द

"हाथ को हाथ सुझाई न देना" शब्द से संबंधित परिणाम

हाथ को हाथ सुझाई न देना

हाथ को हाथ सुझाई नहीं देना

बहुत अंधेरा होना , इंतिहाई तारीकी होना

हाथ को हाथ नहीं सुझाई देता

हाथ को हाथ सूझाई न देना

बहुत अंधेरा होना , इंतिहाई तारीकी होना

हुमायूँ को हाथ से न देना

हौसला ना हारना

हाथ को हाथ न सूझना

रुक : हाथ को हाथ सुझाई ना देना

हाथ से न देना

हाथ से न छोड़ना, हाथ से न खोना, नियंत्रण से बाहर न निकलने देना

हाथ को हाथ न मा'लूम होना

रुक : हाथ को हाथ सुझाई ना / नहीं देना

हाथ को हाथ नज़र न आना

रुक : हाथ को हाथ सुझाई ना / नहीं देना

हाथ से दूसरे हाथ को ख़बर न हो

किसी को कानों कान ख़बर नहप हो कि क्या दिया और किस को दिया

हाथ की हाथ को ख़बर न होना

राज़दारी और ख़ामोशी से कोई काम होना, कानों-कान ख़बर ना होना, किसी को इलम ना होना

मौक़ा' हाथ से न देना

समय पर लाभ उठाना, अवसर को हाथ से न खोना

चराग़ को हाथ देना

चराग़ की रौशनी को बुझाना, दिया बुझाना

वक़्त हाथ से न देना

۔मौक़ा ना खोना

हाथ से न जाने देना

۱۔ क़ाबू से बाहर ना होने देना, क़बज़े और क़ाबू में रखना, ताल्लुक़ ना छोड़ना (रुक : हाथ से जाने ना / नहीं देना)

हाथ से जाने न देना

۱۔ क़ाबू से निकलने ना देना , तर्क ना करना, ना छोड़ना

किसी चीज़ पर हाथ न रखने देना

गिरानी के बाइस उस चीज़ को ना छूने देना, ज़्यादा क़दर-ओ-मांग के बाइस किसी चीज़ को हाथ ना लगाने देना, किसी चीज़ की फ़रोख़त में निहायत बेपर्वाई-ओ-तुर्श-रूई को काम में लाना

कोठी कोठार सब तुम्हारा मगर किसी चीज़ को हाथ न लगाना

रुक : कोठी कठले को हाथ ना लगाओ, अलख

हाथ पाँव पट्ठे पर न रखने देना

घर बार तुम्हारा है कोठी कोठले को हाथ न लगाना

झूटी बातों से किसी का दिल ख़ुश करना

घर बार तुम्हारा है कोठी कुठले को हाथ न लगाना

झूटी बातों से किसी का दिल ख़ुश करना

जगन नाथ के भात को किन ने न पसारा हाथ

ऐसी बात को जिस में कोई झगड़ा ना हो कौन नहीं पसंद करता

कोठी कुठले को हाथ न लगाओ, घर बार तुम्हारा है

ज़बानी बहुत हमदर्दी मगर कुछ देने को तैय्यार नहीं, क़ीमती चीज़ अपने क़बज़ा में, फ़ुज़ूल चीज़ों से दूसरों को ख़ुश करना होतो कहते हैं

हाथ न रखने देना

किसी तरह क़ाबू में ना आना, राज़ी ना होना , पर्वा ना करना, ख़ातिर में ना लाना, बात सुनने के लिए तैय्यार ना होना, ज़रा सी बात पर बुदक जाना

हाथ न धरने देना

छूने ना देना, हाथ ना लगाने देना

हाथ न लगाने देना

पास न आने देना, स्त्री का पुरुष को पास न आने देना, छूने न देना, अर्थ: साथ सोने न देना

हाथ पट्ठे पर न रखने देना

हाथ पट्ठे पर न धरने देना

घोड़े का सवार को पास ना आने देना , मुराद : किसी तरह क़ाबू में ना आना , बहुत चालाक होना

पट्ठे पर हाथ न रखने देना

आधी को छोड़ सारी को धावे आधी भी हाथ न आवे

वह व्यक्ति जो उपस्थित वस्तु को छोड़ कर अधिक की ओर भागता है वह उपस्थित वस्तु को भी खो देता है, लालची सदा हानि उठाता है

कोठी कुठले को हाथ न लगाओ, घर बार आप का है

ज़बानी बहुत हमदर्दी मगर कुछ देने को तैय्यार नहीं, क़ीमती चीज़ अपने क़बज़ा में, फ़ुज़ूल चीज़ों से दूसरों को ख़ुश करना होतो कहते हैं

हिन्दी, इंग्लिश और उर्दू में हाथ को हाथ सुझाई न देना के अर्थदेखिए

हाथ को हाथ सुझाई न देना

haath ko haath sujhaa.ii na denaaہاتھ کو ہاتھ سُجھائی نَہ دینا

मुहावरा

English meaning of haath ko haath sujhaa.ii na denaa

  • be pitch-dark

संदर्भग्रंथ सूची: रेख़्ता डिक्शनरी में उपयोग किये गये स्रोतों की सूची देखें .

सुझाव दीजिए (हाथ को हाथ सुझाई न देना)

नाम

ई-मेल

प्रतिक्रिया

हाथ को हाथ सुझाई न देना

चित्र अपलोड कीजिएअधिक जानिए

नाम

ई-मेल

प्रदर्शित नाम

चित्र संलग्न कीजिए

चित्र चुनिए
(format .png, .jpg, .jpeg & max size 4MB and upto 4 images)
बोलिए

Delete 44 saved words?

क्या आप वास्तव में इन प्रविष्टियों को हटा रहे हैं? इन्हें पुन: पूर्ववत् करना संभव नहीं होगा

Want to show word meaning

Do you really want to Show these meaning? This process cannot be undone

Recent Words